Thu. Aug 11th, 2022
मरीन बहुत ही खुशी खुशी अपनी खाला के घर शादी में गईं थीं। नमरीन एक सुननी जमात कि लड़की है और खाला शिया जमात कि नमरीन को अपनी खाला के अलावा कोई भी शिया अच्छा नहीं लगता। शादी का माहोल था नमरीन शादी के कामों में लगी थी तभी उसकी दोस्त का कॉल आता है हेलो नमरीन क्या कर रही हो नमरीन कुछ नही काम कर रहें थे तुम बताओ कुछ नही यार सोचा पूछ ले बढ़ी अच्छी लग रही हो कोई मिला क्या शादी में नमरीन ने कहा यहां मुझे कोई नही मिल सकता सब शिया लड़के ही होगे और तुम जानती हो में शिया लड़के पसंद नही करती रेशमा कहती है हां क्या पता तुम्हे किसी से मोहब्बत हो जाए यह कहकर हसने लगी।नमरीन की खाला के देवरानी कि बहु से नमरीन कि दोस्ती हो गई थी दोनो मिलकर बहुत इंजॉय करती। आज हल्दी का फंक्शन था हल्दी फंक्शन एक होटल में था। नमरीन होटल में गई अपना सामान रख के बेड पे लेट गई तभी भाभी बोली चलो मेरे साथ हॉल में हॉल सजाने में मेरी मदद करो नमरीम और भाभी दोनो मिलकर गुब्बारे फूला रही थी तभी एक हैंडसम सा लड़का आकार भाभी से मज़ाक करने लगा भाभी ने नामरी से मिलवाया इनसे मिलो यह है अर्श मेरे शौहर के दोस्त नमरीन अर्श को देखकर सोचने लगीं अच्छा लग रहा है पर शिया ही होगा अर्श नमरीन को देखकर सोचने लगा कितनी प्यारी लड़की है इसे देखकर मेराnकिसी काम में मन ही नही लग रहा है कुछ दिमाग लगाता हु जिससे मुझे यहां से जाना ना पढ़े।

अर्श भाभी को हॉल सजाने में अच्छा अच्छा आइडिया देने लगा जिससे भाभी अर्श के साथ हॉल सजाने लगी। अर्श नमरीम से बात करना चाहता पर नमरीन उससे बात नही करती अचानक से किसी ने भाभी को आवाज़ दी यहां आओ नमरीन बोली भाभी में भी आपके साथ चलती हु भाभी ने कहा तुम कही नही जाओगी चुप चाप यहां बैठकर अर्श के साथ हॉल सजाओ।

Short Love Story In Hindi – Short Love Story In Hindi  Romantic Story In Hindi – Romantic Kahani – Romantic Kahaniya – Love HIndi Story – Hindi Kahani

नमरीन और अर्श दोनो अब हॉल में अकेले थे नमरीन को घबराते देखकर अर्श ने कहा आप परेशान न हो में वैसा लड़का नही हु अर्श हसी मज़ाक करने लगा जिससे नमरीन को भी अच्छा लगने लगा। नमरीन और अर्श दोनो गुब्बारा फुलाते और बच्चो के तरह हंसते तभी भाभी आ जाती है कहती है क्या बात है दो अजनबी मिलकर बढ़ा हस रहे हैं इशारों इशारों में कुछ बात तो नही हो गई।अर्श नही भाभी ऐसा कुछ नही।

नमरीन अर्श ने पूछती हैं तुम क्या करते हो

अर्श : बैंक में जॉब

नमरीन : अच्छा

अर्श : तुम क्या करती हो

नाम : में सोशल मीडिया मार्केटिंग करती हु अब मेरी शादी होने वाली है।

अर्श : आपको कैसा हमसफर चहिए

नमरीन : मेरे पापा कि पसंद ही मेरी पसंद है

अर्श: कुछ तो आपकी पसंद होगी ना बता दीजिए ना मुझे।

नमरीन : कोई पसंद नही है पापा कि ही पसंद मेरी पसंद है।

अर्श मन ही मन सोचने लगा कितनी संस्कारी लड़की है काश इससे मेरी शादी हो जाएं। अर्श और नमरीन दोनो मिलकर हॉल सजा लिए भाभी नमरीन से बोली तुम नीचे पढ़े सभी फूलो को मेरे पास ले आओ में दीवार के चिपका देती हु। नमरीन को फूलो से बहुत प्यार था अर्श यह देखते ही समझ गया अर्श नमरीन से पूछता है आपको फूल बहुत पसंद हैं क्या । हां मुझे फूल बहुत पसंद हैं और आपको  अर्श ने कहा मुझे फूलो से ज्यादा फूलों से प्यार करने वाली लड़की पसंद है। नमरीन शर्मा जाती है।

अर्श नमरीन को बार बार बढ़े रोमांटिक अंदाज से फूल दे रहा था। हॉल सजाते सजाते अर्श और नमरीन में काफी दोस्ती हो गई थी अब वो दोनो एक दूसरे के लिए अनजान नहीं थे। हल्दी फंक्शन में नमरीन बहुत अच्छी लग रही थी जैसे ही वो अपने रूम से निकली अर्श उसे देखते ही रह गया अर्श को इतने प्यार से देखने से नमरीन शर्मा गईं और बहुत ही attitude में आगे बढ़ गई।

नमरीन मेहमानों को देखती जैसे ही वो पानी लेने जाती या वेटर को बुलाती अर्श उसके हाथ से जग ले लेता खुद पानी ले आता अर्श नमरीन से कहता आप क्यों करती है काम आप बस हमे हुक्म दिया करे। वैसे आज बहुत अच्छी लग रही है नमरीन ने कहा शुक्रिया।

रात हो गई थी सभी होटल में हॉल में बैठे थे  अर्श दूर बैठा नमरीन को देख रहा था। नमरीन अर्श कि सब हरकत देख रही थी और सोच रही अर्श कितना फिदा हो गया है। नमरीन भाभी से मेहंदी लगवा रही थी तभी अचानक अर्श आ गया। अर्श सोच रहा था दिल कर रहा है नमरीन के हाथो में अपना नाम लिख दू। भाभी अर्श से बोली मुस्करा कर क्या करने आए हो यहां नमरीन के हाथों कि मेहंदी देखने क्या अर्श नही बस ऐसे ही कुछ काम से आया भाभी अच्छा काम से बताओ क्या काम है अर्श भूल गाया क्या काम था। अर्श कि चोरी पकड़ी गई वो नमरीन कि मेहंदी देखने आया था।

दूसरे दिन बारात थी नमरीन तैयार होकर बहुत ही खुबसूरत लग रही थी वही अर्श कोर्ट पेंट में बहुत हॉट लग रहा था। नमरीन अपनी बहनों के साथ बैठी थी तभी अर्श उसको ढूंढते हुए आ जाता है दूर से इशारा करता है बहुत खुबसूरत लग रही हो एक काला टीका लगा लीजिए कही आपको किसी की नजर न लग जाए। नमरीन ने इशारा किया जाओ यहां से सब देख रहे है।

नमरीन बारात के बाद दुल्हन लेकर अपनी खाला के घर चली गई। दुल्हन के रूम में सब रस्म हो रही थी।  नमरीन वही खड़ी होकर सब रस्म देख रही थी तभी अर्श आ गया वहा  नमरीन अर्श को देखते ही मुस्कुरा दी अर्श नमरीन के पास जाकर बैठ गया और बोला हमे देखकर आप इतना खुश क्यों हो गई क्या आप मेरा इंतजार कर रहीं थी क्या।नमरीन ने कहा नही ऐसा कुछ नही है।

नमरीन की खाला उस दिन नमरीन को अपने घर रोक ली और उनके घर से जाते जाते बोला कि आप होटल नहीं चलेगी मेरे साथ नमरीन ने कहा आज मैं यही रहूंगी अर्श ने कहा  मैं कल आपका इंतजार करूंगा जल्दी आइएगा। दूसरे दिन नमरीन जैसे ही होटल पहुंचती है अर्श उसको देख कर खुश हो जाता है और आपने खाना खाया आपके लिए खाना ले आए नमरीन कहती यहां बहुत मेहमान है आप उन्हे देखिए मेरी तो घर कि शादी में खा लूंगी अर्श कहता है होगे बहुत मेहमान पर मेरे लिए सबसे स्पेशल तो आप हो।

रात को मैरेज हॉल  में अर्श और नमरीन मिलकर चाउमीन खाए अर्श ने नमरीन को साथ में एक सेल्फी लेने को कहा पर नमरीन ने मना कर दिया। वलीमा के फंक्शन के बाद सब होटल में आ गए तभी नमरीन अपनी बहन के साथ हॉल में टीवी में बैठे कुछ पर्सनल बाते कर रही थी तभी अर्श वहां पर आ जाता है और मुस्कुरा के बोला क्या कुछ बातें हो रही हैं।अर्श ने कहा  शादी भी हो गई का कल सब अपने अपने घर चले जाएंगे क्यों ना आज आप हमसे भी कुछ बातें कर लीजिए।

थोड़ी देर बाद नमरीम की एक एक रिश्तेदार ने उसे बुलाते हैं बोलती मेरे पेट में दर्द है थोड़ी इलायची मिलेगी क्या नरमी अर्श को इलाची लाने को बोलती है अर्श इलची देता है। अर्श उस रात नमरीन को प्रपोज करने का सोचा। नमरीन मैं आपसे कुछ कहना चाहता हूं आप गुस्सा तो नहीं होगी ना मैंने कहा नहीं बोलो जैसे ही अर्श कुछ बोलता तभी नमरीन कि मम्मी उसे आवाज देती है और वो अपने मम्मी के पास चली जाती हैं।

 

Short Love Story In Hindi – Romantic Story In Hindi – Romantic Kahani – Romantic Kahaniya – Love HIndi Story – Hindi Kahani – Love Hindi Story

दूसरे दिन नवीन के अपने खाला के घर आ जाती है अर्श भी वही आ जाता है। अकेले में नमरीन अर्श से कहता है कि आपकी फेसबुक और इंस्टाग्राम पर मैंने रिक्वेस्ट भेजी है आप उसे एक्सेप्ट कर लीजिएगा। रात का टाइम था नमरीम फूलो से खेल रही थी तभी अचानक से अर्श आ जाता है और नमरीन को  फूलों से खेलते हुए देख लेता है नमरीन फूलों से खेलते हुए बहुत ही खूबसूरत लग रही थी। अरे उसे देखते हुए उसका दिल कहा था काश नमरीन के साथ  मैं भी फूलों से खेलता पर सबके होते हुए वह कुछ बोल नहीं पाया।

नमरीन ने अपना फेसबुक और इंस्टाग्राम चेक भी नही किया  2 दिन के बाद नमरीन के व्हाट्सएप पर अननोन नंबर से मैसेज आता है जो बार-बार मैसेज करके कोई डिलीट कर देता नमरीन इग्नोर करती है 2 दिन के बाद उसी नंबर से मैसेज आता है हाय रिप्लाई करती है तो उसने बोला  में अर्श भूल गई क्या मुझे इतनी जल्दी नमरीन ने मजाक में कहा कौन अर्श में नही जानती।

 

अर्श : जिससे आप उस दिन  इलाइची मगाई थी आपने जिसके लिए इलायची मंगाई थी उनको फायदा की थी।

नमरीन :  मैंने इतना ध्यान ही नहीं दिया हमको फायदा की थी कि नहीं।

अर्श : शादी के बाद आपको मिस कर रहा था मैं

नमरीन : अच्छा

अर्श : क्या आपको मेरी याद नही आई

नमरीन : थोड़ा थोड़ा आई

अर्श : मैं उस रात आपसे कुछ कहना चाहता था पर आपकी मम्मी ने बुला लिया था क्या मैं वो बात आज कह सकता हूं।

नमरीन :  जी बोलिए कैसी बात

अर्श: मुझे आपसे प्यार हो गया है

नमरीन: अर्श के प्यार के इज़हार से नमरीन खुश भी हो रही है और उसकी दिल कि धड़कन तेज हो गई थी।

नमरीन ने कहा सोच के बताऊंगी

अर्श: में आपके जवाब का इंतज़ार करूंगा।

दो दिन बाद नमरीम ने हां कह दिया अर्श बहुत खुश हुआ उसने कहा मैं आपके घर रिश्ता भिजवा रहा हु।अर्श के रिश्ते से नमरीन के घर वाले गुस्सा हो गए और शादी के लिए नहीं मान रहे थे पर कुछ दिन बाद बहुत मुश्किल से नमरीन उन लोगों को मनाया और वह लोग मान गए और फिर दोनों की खुशी खुशी शादी हो गई।

By Suraj

Leave a Reply

Your email address will not be published.